ओडीओपी के लिए 07 जिलों में स्पेशल पर्पज व्हीकल को लागू करने की मिली सैद्धान्तिक सहमति
December 5, 2019 • Mr Arun Mishra
卐 सी0एफ0सी0 की स्थापना हेतु बेसलाइन सर्वे का कार्य शीघ्र पूर्ण कर अपनी रिपोर्ट उपलब्ध करायें: डाॅ नवनीत सहगल 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने एक जिला-एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना को और प्रभावी बनाने के लिए राज्य के 07 जिलों में स्पेशल पर्पज व्हीकल (एस0पी0वी0) को सैद्धांतिक सहमति प्रदान की है। प्रदेश के लघु, उद्यम एवं सूक्ष्म विभाग के प्रमुख डाॅ नवनीत सहगल बुधवार को निर्यात प्रोत्साहन भवन में 07 जिलों के जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्रों के संयुक्त आयुक्तों/उपायुक्तों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शेष जिले सी0एफ0सी0 की स्थापना हेतु बेसलाइन सर्वे का कार्य शीघ्र पूर्ण कर अपनी रिपोर्ट उपलब्ध करायें। उन्होंने डी0एस0आर0 कार्य को भी शीघ्र मूर्तरूप रूप देने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये हैं। उन्होंने कहा कि ओडीओपी येाजना को गति देने के लिए इन रिपोर्टों को अंतिम रूप शीघ्र दिये जाने की आवश्कता है। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि सैद्धांतिक रूप से अनुमोदित डी0एस0आर0 के अनुसार सी0एस0सी0 की स्थापना को वरीयता दी जाय। साथ ही अन्य जनपदों से भी जल्द से जल्द डी0एस0आर0 प्राप्त किया जाए।  प्रमुख सचिव ने संयुक्त डाइग्नोस्टिक स्टडी रिपोर्ट (डीसीआर) तथा सह-डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) की नियमित समीक्षा किये जाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। इसके साथ ही कॉमन फैसेलिटी सेंटर (सीएफसी) की स्थापना के लिए जिले में सम्भावित एस0पी0वी0 की पहचान किये जाने और प्रस्तावित हस्ताक्षेपों को लागू करने का अनुमानित वित्तीय निहितार्थ सुनिश्चित करने पर भी बल दिया गया। डाॅ सहगल ने कहा कि ओडीओपी योजना राज्य सरकार की रोजगारपरक महत्वपूर्ण योजना है। विभागीय अधिकारी इस योजना के क्रियान्वयन में पूर्ण लगन और ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। बैठक में अलीगढ़, आमजगढ़, फिरोजाबाद, गाजियाबाद, गोरखपुर, गौतमबुद्धनगर एवं मेरठ के संयुक्त आयुक्त एवं उपायुक्तों के साथ ही डी0एस0आर0 एजेंसी के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।