ओडीओपी प्रदर्शनी से कारीगरों व शिल्पियों के लिए बड़े बाजार उपलब्ध होंगे: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
February 3, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली हाट में आयोजित ओडीओपी प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

> ओडीओपी प्रदर्शनी' में उत्तर प्रदेश के विशिष्ट उत्पादों के माध्यम से कुशल कारीगरों की प्रतिभा का प्रदर्शन : मुख्यमंत्री

> 1 लाख से अधिक राजमिस्त्रियों ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत उत्तर प्रदेश में 1.5 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया: मुख्यमंत्री

लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को नई दिल्ली स्थित दिल्ली हाट में आयोजित ओडीओपी प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। इस प्रदर्शनी में 118 स्टॉल लगाए गए हैं। इस ओडीओपी प्रदर्शनी में वाराणसी की रेशम साड़ियां, भदोही के कालीन, मुरादाबाद के पीतल के बर्तन आदि का प्रदर्शन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ओडीओपी प्रदर्शनी' में उत्तर प्रदेश के विशिष्ट उत्पादों के माध्यम से कुशल कारीगरों की प्रतिभा का प्रदर्शन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी के जरिए कारीगरों व शिल्पियों के लिए बड़े बाजार उपलब्ध होंगे। पहले चरण में प्रदेश सरकार ने राज्य के जनपदों के उत्पादों की पहचान की। कई जनपदों से एक से अधिक उत्पाद भी सामने आए। सिद्धार्थनगर के काला नमक, चावल और मुजफ्फरनगर के गुड को भी इस सूची में शामिल किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के सभी 75 जिलों के लिए एक योजना बनायी गई है, जिससे कुशल श्रमशक्ति आसान ऋण का लाभ उठा सकती है एक जनपद एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना के माध्यम से सरकार उत्पादों की पैकेजिंग, डिजाइनिंग और मार्केटिंग में सहयोग कर रही है। राज्य के इन उत्पादों को बढ़ावा देने व ग्लोबल मार्केटिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने अमेजॉन के साथ एमओयू हस्ताक्षरित किया है। इसके अलावा, फ्लिपकार्ट, अलीबाबा और अन्य ऑनलाइन मार्केटिंग करने वाली कम्पनियों के साथ एमओयू किए जा रहे हैं। प्रदेश सरकार द्वारा हस्तशिल्पियों/कारीगरों की दक्षता और उत्पादकता में सुधार करने के लिए कुम्हारों को सोलर चाक बांटे गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि एमएसएमई किसी भी अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। उत्तर प्रदेश के मध्यम और लघु उद्योगों ने निर्यात में इस वर्ष 28 प्रतिशत अधिक वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार हुनरमन्दों के प्रशिक्षण की दिशा में काम कर रही है, ताकि वे अपने उत्पादों के बेहतर लाभ प्राप्त कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 01 लाख से अधिक राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया, जिनके द्वारा केन्द्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत उत्तर प्रदेश में 1.5 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया। इस क्षेत्र में उत्तर प्रदेश ने देश में प्रथम स्थान प्राप्त कियाइसी प्रकार गरीबों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गए आवास (शहरी और ग्रामीण) के निर्माण में उत्तर प्रदेश ने पहला स्थान प्राप्त किया है। इस अवसर पर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम व निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रमुख सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम व निर्यात प्रोत्साहन नवनीत सहगल, मुख्यमंत्री योगी के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार, उ प्र फिल्म विकास परिषद के चेयरमैन राजू श्रीवास्तव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।