ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत अनियमितता पूर्ण निर्माण कार्यों की जाँच करेगी टीएसी कमेटी
February 15, 2020 • Mr Arun Mishra

फर्रुखाबाद (का ० उ ० सम्पादन)। जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत जनपद के परिषदीय विद्यालयों में बाल मैत्रिक अवस्थापना सुविधाओं से संतृप्त किये जाने हेतु जनपद स्तरीय बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत की गई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि शिक्षा विभाग द्वारा कायाकल्प के अंतर्गत अतिरिक्त कक्षाकक्ष का निर्माण कार्य अध्यापकों द्वारा अनियमितता पूर्ण कराया गया था।  जिनमें से अधिकतर वर्तमान में जर्जर स्थिति में हैं। जिलाधिकारी ने टीएसी कमेटी बनाकर जाँच कराने के निर्देश दिए। जाँच में गड़बड़ी पाए जाने पर सम्बंधित अध्यापकों के वेतन से रिकवरी कराई जाए। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि वर्तमान में 1200 स्कूलों में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत निर्माण कार्य कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालयों की रंगरोगन एवं साफ़ सफाई बहुत अच्छे ढंग से कराई जाए।  जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालयों में शिक्षा गुणवत्ता सुधारने हेतु समय समय पर जिला स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर विद्यालयों का औचक निरीक्षण कराया जाए। निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाए जाने वाले अध्यापकों का वेतन काटा जाए एवं सेवा ब्रेक की कार्यवाही की जाए। उक्त कार्यवाही को सेवा पुस्तिका में अवश्य रूप से दर्ज कराना सुनिश्चित किया जाए। मोहनपुरा विद्यालय की बॉउंड्रीवाल का निर्माण कार्य शुरू कराने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि कुछ विद्यालयों से गैस सिलिंडर चोरी हो गए हैं।  अध्यापकों द्वारा तहरीर भी दी गई परन्तु उसपर कोई कार्यवाही नहीं हुई। जिलाधिकारी ने तत्काल एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए। यदि पुलिस द्वारा कार्यवाही न की जाए तोह तत्काल अवगत कराना सुनिश्चित किया जाए।  उर्दू अध्यापकों द्वारा बच्चों को हिंदी एवं अक्षर ज्ञान देने हेतु बाध्य किया जाए। अन्यथा की दशा में सम्बंधित पर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उत्कृष्ट अध्यापकों द्वारा सभी अध्यापकों को जागरूक कराकर प्रेरणा ऐप्प पर रिपोर्टिंग कराई जाए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, समस्त खंड शिक्षा अधिकारी, सहायक खंड शिक्षा अधिकारी आदि उपस्थित रहे।