प्रभु श्रीराम के राज्याभिषेक के शुभावसर पर भगवान् श्रीराम लला का आसन परिवर्तन संपन्न
March 26, 2020 • Mr Arun Mishra

> टेंट से बाहर आए भगवान् श्रीराम लला।

> देश और दुनिया का हर सनातन स्वावलम्बी मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की इस धरती पर गौरव की अनुभूति करता है: योगी आदित्यनाथ

अयोध्या (का ० उ ० सम्पादन )। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश जिस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए तैयार हुआ है, दुनिया के तमाम संगठन जैसे विश्व स्वास्थ्य संगठन, संयुक्त राष्ट्र संघ ने भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि मानव पर जब भी कभी संकट आया है और विपरीत एवं विषम परिस्थितियां उत्पन्न हुई हैं, तब जनमानस ने भगवान श्रीराम से प्रेरणा एवं प्रकाश प्राप्त किया है। भगवान श्रीराम हम सभी को इस आपदा से लड़ने की शक्ति प्रदान करेंगे। योगी जी ने बुधवार को अयोध्या धाम में भगवान श्रीराम लला को उनके नए आसन (अस्थायी) पर पूजा-अर्चना के पश्चात विराजमान किया। इस अवसर पर योगी जी ने अपने निजी कोष से श्री रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को 11 लाख रुपए का चेक ट्रस्ट के महासचिव श्री चंपतराय को भेंट किया। उन्होंने प्रदेश व देशवासियों को चैत्र नवरात्रि एवं रामनवमी मेला के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर महासचिव श्री चंपतराय ने घोषित किया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने व्यक्तिगत अकाउंट से 11 लाख रूपए का चेक श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को देकर भगवान् के श्री चरणों में समर्पित किया है। मैं प्रभु श्रीराम लला की ओर से इसे स्वीकार कर रहा हूँ। श्रीराम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी श्री सतेंद्र दास जी ने अन्य पुजारियों के साथ इस कार्य को यथाविधि संपन्न कराया। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा भारतीय गड़ना के नए सम्वत के पहले दिन चैत्र मॉस का पहला चन्द्रमा भी दिखा, इस शुभ दिन माना जाता है कि भगवान् का राज्याभिषेक आज ही के दिन हुआ था। जन्मभूमि के गर्भ गृह पर राम मंदिर निर्माण प्रक्रिया का प्रथम चरण एवं भगवान् का आसान परिवर्तन पूर्ण हुआ। मा मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि आज भगवान् श्रीराम के राज्याभिषेक का पावन दिन है, हम सब सौभाग्यशाली हैं कि हज़ारों वर्षों के बाद इस अयोध्या नगरी में मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम इस नए आसन में विराजमान हुए हैं, हम सब सौभाग्यशाली इस कृत्य के साक्षी हैं। आज यह अवसर हम सबको ब्रह्ममुहूर्त में देखने को मिला है। हम सौभाग्यशाली हैं कि भारत की मर्यादा, अनुशासन को परम वैभव तक ले जाने के स्वप्न को भव्य राम मंदिर निर्माण के साथ देख पाएंगे। श्रीराम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण का स्वप्न  साकार होता दिख रहा है। भगवान् श्रीराम लला का नए आसन पर विराजमान होने से ही आज भव्य मंदिर निर्माण का शुभारम्भ हो गया है। योगी जी ने कहा कि देश और दुनिया का हर सनातन स्वावलम्बी मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की इस धरती पर गौरव की अनुभूति करता है। मानवता पर जब जब संकट आया है तब तब विपरीत परिस्थियों में भगवान् श्रीराम की प्रेरणा प्राप्त कर लोगों ने प्रकाश प्राप्त किया है। हमारी वर्तमान पीढ़ी को यह सौभाग्य प्राप्त हुआ है कि मंदिर निर्माण हम देख पाएंगे।  कई पीढ़ियां चली गयीं। मंदिर निर्माण ने भारत के लोकतंत्र, शासन पद्यति और न्याय पालिका के विश्वास को और सुदृढ़ किया है। मुख्यमंत्री ने देशवासिओं को इस पावन घड़ी पर नव संवत्सर की बधाई दी और कहा कि भगवान् श्रीराम कोरोना महामारी से लड़ने में हम सबको सम्बल प्रदान करें और सबका कल्याण करें। आयोजन में नृत्य गोपाल दास जी के उत्तराधिकारी कमल नयन दास, दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास, निर्मोही अखाड़ा के त्रिवेंद्र दास, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के न्यासी देवेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, श्रीराम जन्मभूमि के एक्स ऑफिशियो पड़ें सदस्य अवनीश कुमार अवस्थी, पड़ें सदस्य जिलाधिकारी अनूप झा, मंडलायुक्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, आर एस एस स्वाद प्रांत के प्रचारक कौशल कुमार, विश्व हिन्दू परिषद् के संयुक्त महामंत्री, विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मंत्री अमरीश सिंह, बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक कानपुर के प्रकाश शर्मा, हमीरपुर के अशोक तिवारी, राजेंद्र सिंह पंकज,त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी, समेत अन्य उपस्थित थे।