प्रदेश के 51 मेडिकल कॉलेजों में कोरोना संकमण के उपचार हेतु वर्तमान में 4,500 आइसोलेशन बेड्स उपलब्ध
March 23, 2020 • Mr Arun Mishra
> चिकित्सा शिक्षा मंत्री की अध्यक्षता में प्रदेश के 24 राजकीय तथा 27 निजी मेडिकल कॉलेजों / चिकित्सा संस्थानों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग संपन्न।
लखनऊ ( सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग )। मा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सोमवार को मा चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना की अध्यक्षता में प्रदेश के 24 राजकीय तथा 27 निजी मेडिकल कॉलेजों / चिकित्सा संस्थानों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग की गयी। कुल मिलाकर 51 मेडिकल कॉलेजों में कोरोना संकमण के उपचार / रोकथाम हेतु वर्तमान में लगभग 4,500 आइसोलेशन / क्वारन्टाइन बेड्स उपलब्ध हैं। एक सप्ताह में इसे बढ़ाकर 11,000 आइसोलेशन / क्वारन्टाइन शैय्या की क्षमता किए जाने के निर्देश दिए गए। प्रत्येक मेडिकल कॉलेज में न्यूनतम 20 आइसोलेशन बेडों तथा 02 वेन्टीलेटर एवं अधिकतम 200 आइसोलेशन बेडों व 20 वेन्टीलेटर के साथ बनाने के निर्देश दिए गए। एसजीपीजीआई, लखनऊ में प्रदेश का आधुनिक राजधानी कोविड हॉस्पिटल स्थापित किया जा रहा है, जिसमें 80 से 100 वेन्टीलेटर, 210 आइसोलेशन बेड्स की व्यवस्था हाई रिस्क रोगियों के लिए प्रस्तावित है। सभी मेडिकल कॉलेजों / संस्थानों के प्रधानाचार्यों को कोविड- 19 अस्पतालों हेतु डेडिकेटेड भवन चिन्हित करते हुए मेडिकल स्टाफ हेतु क्वारन्टाइन बेड उपलब्ध कराने तथा मानव संसाधन व उपकरण आदि की व्यवस्था तत्काल सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। समस्त निजी मेडिकल कॉलेजों के कोविड अस्पतालों का पर्यवेक्षण जिलाधिकारियों द्वारा किया जाएगा तथा एपेडमिक एक्ट अथवा दण्ड प्रक्रिया संहिता के तहत बाध्यकारी कार्यवाही की जाएगी। प्रदेश में 13 वृहद (200 शैय्या वाले आइसोलेशन वार्ड) कोविड अस्पताल व 38 मध्यम दर्जे के कोविड अस्पताल बनाए जा रहे हैं।