प्रदेश में अब तक 1647 ट्रेन के माध्यम से 22.40 लाख से अधिक कामगार एवं श्रमिक को लाये जाने की व्यवस्था की गई
June 2, 2020 • Mr Arun Mishra

प्रत्येक जनपद को एक-एक टूनेट मशीन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

> 23-24 लाख कामगारों और श्रमिकों का पूरा डेटाबेस राजस्व विभाग द्वारा कलेक्ट कर लिया गया है : एसीएस होम 

> लघु मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 3,18,223 इकाईयां तथा सूक्ष्म श्रेणी की 77,830 औद्योगिक इकाईयां क्रियाशील हैं : एसीएस होम 

> गोरखपुर में अब तक 264 ट्रेन से सर्वाधिक 3,39,862 कामगार एवं श्रमिक आए : एसीएस होम

> प्रदेश में गुजरात से सर्वाधिक 530 ट्रेन से 7,76,489 लोग आए : एसीएस होम

सोमवार 1 जून को लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद।

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने 1 जून को लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने भारत सरकार के दिशा निर्देशों का पूरी तरह पालन सुनिश्चित कराते हुए अनलॉक व्यवस्था के प्रभावी संचालन के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी जरूरतमंदों को खाद्यान्न उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे। श्री अवस्थी ने बताया कि कामगारों और श्रमिकों का पूरा डेटाबेस राजस्व विभाग द्वारा कलेक्ट किया जा रहा है। अब तक 23-24 लाख लोगों का डेटाबेस तैयार कर लिया गया है। अब तक प्रदेश में आये लगभग 30 लाख लोगों के स्वरोजगार, पुर्नवास एवं स्किलिंग आदि की व्यवस्था राजस्व विभाग द्वारा तैयार किये जा रहे डेटाबेस के आधार पर सुनिश्चित की जायेगी। शीघ्र ही कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग के गठन का कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से सिक इन्डस्ट्रियल यूनिट्स को क्रियाशील करने की कार्य योजना तैयार की जाए। इसके लिए ऐसी औद्योगिक इकाइयों की मैपिंग की जाए। उन्होंने आम के निर्यात के सम्बन्ध में कार्य योजना बनाने के निर्देश भी दिए हैं। लघु मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 3,18,223 इकाईयां तथा सूक्ष्म श्रेणी की 77,830 औद्योगिक इकाईयां क्रियाशील हैं जिनमें 28.89 लाख श्रमिक कार्य कर रहे हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि देश में सबसे अधिक कामगार उत्तर प्रदेश में आये हैं। प्रदेश में अब तक 1647 ट्रेन के माध्यम से 22.40 लाख से अधिक कामगार एवं श्रमिक को लाये जाने की व्यवस्था की गई है, इनमें से अब तक 1587 ट्रेन से 21.48 लाख से अधिक लोगों को प्रदेश में लाया जा चुका है। इसके साथ ही 60 ट्रेन को और सहमति प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि ट्रेन एवं बसों के माध्यम से अब तक 25.03 लाख से अधिक लोगों को उनके गृह जनपद में सकुशल पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि गोरखपुर में अब तक 264 ट्रेन से सर्वाधिक 3,39,862 कामगार एवं श्रमिक आये हैं। लखनऊ में 112 ट्रेन के माध्यम से 1,45,315 लोग आए हैंवाराणसी में 117, आगरा में 11, कानपुर में 17, जौनपुर में 135, बरेली में 12, बलिया में 71, प्रयागराज में 64, रायबरेली में 22, प्रतापगढ़ में 75, अमेठी में 17, मऊ में 48, अयोध्या में 37, गोण्डा में 71, उन्नाव में 28, बस्ती में 87 ट्रेन जबकि आजमगढ़ में 42, कन्नौज में 03, गाजीपुर में 32, बांदा में 21, सुल्तानपुर में 25, बाराबंकी में 12, सोनभद्र में 04, अम्बेडकरनगर में 24, हरदोई में 20, सीतापुर में 13, फतेहपुर में 09, फर्रुखाबाद में 02, कासगंज में 09, चंदौली में 17, इटावा में 01, मानिकपुर (चित्रकूट) में 01, एटा में 01, जालौन में 02, रामपुर में 01, शाहजहांपुर में 01, अलीगढ़ में 06, भदोही में 04, मिर्जापुर में 11, देवरिया में 102, सहारनपुर में 04, चित्रकूट में 03, बलरामपुर में 19, मुजफ्फरनगर में 01, महोबा में 01, झांसी में 05, पीलीभीत में 01, महाराजगंज में 01 एवं कौशांबी में 01 ट्रेन आ चुकी हैं। मुरादाबाद, मेरठ, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, संत कबीर नगर, कुशीनगर, हमीरपुर, बहराइच, लखीमपुर खीरी में भी ट्रेन आ रही हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 530 ट्रेन से 7,76,489 लोग, महाराष्ट्र से 427 ट्रेन से 5,78,749 लोग, पंजाब से 233 ट्रेन से 2,74,147 कामगारों और श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं। इसके साथ ही तेलंगाना से 23, कर्नाटक से 53, केरल से 13, आन्ध्र प्रदेश से 11, तमिलनाडु से 37, मध्य प्रदेश से 02, राजस्थान से 36, गोवा से 21, दिल्ली से 98, छत्तीसगढ़ से 01, पश्चिम बंगाल से 01, उड़ीसा से 01 ट्रेन, असम से 01 ट्रेन, त्रिपुरा से 01 ट्रेन, हिमाचल प्रदेश से 04 ट्रेन, उत्तराखण्ड से 03, जम्मू-कश्मीर से 02 तथा उत्तर प्रदेश से 89 ट्रेन के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कामगारों और श्रमिकों को पहुंचाया गया है। प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के 75 जनपदों में 3083 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 4891 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कल 958 पूल टेस्ट किये गये, जिसमें से 847 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 111 पूल 10-10 सैम्पल के थे। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु अलर्ट जनरेट होने पर लोगों को कन्ट्रोल रूम से कॉल किया जा रहा है। अब तक कुल 49,830 लोगों को फोन कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली गयी है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जनपद को एक-एक टूनेट मशीन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। श्री प्रसाद ने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा कामगारों और श्रमिकों के घर पर जाकर सम्पर्क कर उनके लक्षणों का परीक्षण कर रही हैं, जिसके आधार पर आवश्यकतानुसार कामगारों/ श्रमिकों का सैम्पल इकट्ठा कर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 11,47,872 कामगारों और श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया, इनमें 1027 लोगों में कोरोना जैसे लक्षण पाये गये। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 1,00,659 सर्विलांस टीम द्वारा 78,27,404 घरों के 3.97 करोड़ लोगों का सर्वेक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि ट्रेन से आने वाले यात्रियों को 14 दिन तक होम क्वारंटीन में रहना होगा।