राजस्थान रॉयल्स की तीसरी जीत, सनराइजर्स हैदराबाद को पांच विकेट से हराया
October 12, 2020 • Mr Arun Mishra

> राहुल तेवतिया ने 28 गेंदों पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 45 रन की मैच विजयी पारी खेली।

> राजस्थान ने अपने पांच विकेट 78 रन पर गंवा दिए थे लेकिन तेवतिया और पराग ने टीम की शानदार वापसी कराते हुए राजस्थान को जीत दिलाई।

> राजस्थान की तरफ से अपना पहला मैच खेलने उतरे बेन स्टोक्स मात्र पांच रन बनाकर खलील अहमद की गेंद पर बोल्ड हो गए।

> हैदराबाद के कप्तान वार्नर ने 38 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 48 रन की पारी खेली।

राजस्थान रॉयल्स के राहुल तेवतिया सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स के बीच ड्रीम 11 आईपीएल के सीजन 13 के मैच 26 के दौरान मैन ऑफ द मैच रहे।

दुबई (वार्ता)। राहुल तेवतिया की नाबाद 45 रन की तूफानी पारी और उनकी रियान पराग (नाबाद 42) के साथ छठे विकेट के लिए 85 रन की मैच विजयी अविजित साझेदारी की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को रविवार को पांच विकेट से पराजित कर आईपीएल में सात मैचों में अपनी तीसरी जीत हासिल की। हैदराबाद ने मनीष पांडेय की 54 रन की शानदार अर्धशतकीय पारी से चार विकेट पर 158 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन तेवतिया के तीखे तेवरों से राजस्थान ने 19.5 ओवर में पांच विकेट पर 163 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। राजस्थान की सात मैचों में यह तीसरी जीत है और उसके छह अंक हो गए हैं जबकि हैदराबाद को सात मैचों में चौथी हार का सामना करना पड़ा। तेवतिया ने 28 गेंदों पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 45 रन की मैच विजयी पारी खेली। उनका बखूबी साथ दिया पराग ने, जिन्होंने 26 गेंदों पर नाबाद 42 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। दोनों ने छठे विकेट के लिए अविजित 85 रन जोड़कर हैदराबाद के हाथों से जीत छीन ली। राजस्थान ने अपने पांच विकेट 78 रन पर गंवा दिए थे लेकिन तेवतिया और पराग ने टीम की शानदार वापसी कराते हुए राजस्थान को जीत दिलाई। लक्ष्य का पीछा करते हुए राजस्थान की टीम लड़खड़ा गयी और उसके शीर्ष क्रम के बल्लेबाज एक के बाद एक करके पवेलियन लौटते रहे। इस आईपीएल में अपना पहला मैच खेलने उतरे बेन स्टोक्स मात्र पांच रन बनाकर खलील अहमद की गेंद पर बोल्ड हो गए। कप्तान स्टीवन स्मिथ पांच रन बनाकर रन आउट हो गए। जोस बटलर 16 रन बनाकर खलील का दूसरा शिकार बने। रोबिन उथप्पा ने 18 रन बनाये। उन्हें लेग स्पिनर राशिद खान ने पगबाधा किया। राशिद ने संजू सैमसन को भी पवेलियन भेजा। सैमसन ने 25 गेंदों पर 26 रन में तीन चौके लगाए। राजस्थान का पांचवां विकेट 12 वें ओवर की आखिरी गेंद पर 78 के स्कोर पर गिरा। इस समय राजस्थान की हालत काफी खराब नजर आ रही थी लेकिन तेवतिया और पराग की साझेदारी ने मैच का नक्शा बदल दिया। तेवतिया ने 18वें ओवर में राशिद पर लगातार तीन चौके जड़कर हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर को हक्का-पक्का कर दिया। तेवतिया ने अगले ओवर में टी नटराजन की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का लगाकर राजस्थान को मंजिल के करीब ला दिया। पराग ने आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर जैसे ही विजयी छक्का मारा, राजस्थान का पूरा खेमा ख़ुशी से उछाल पड़ा। टीम ने एक अविश्वसनीय जीत हासिल कर ली। इससे पहले हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। वार्नर ने 38 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 48 रन की पारी खेली। जानी बेयरस्टो के 16 रन बनाकर टीम के 23 के स्कोर पर आउट हो जाने के बाद वार्नर और पांडेय ने तीसरे विकेट के लिए 73 रन जोड़े। वार्नर को तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने बोल्ड किया। इससे पहले बेयरस्टो का विकेट कार्तिक त्यागी ने लिया था। पांडेय अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद तीसरे बल्लेबाज के रूप में 122 के स्कोर पर आउट हुए। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने पांडेय का विकेट लिया। पांडेय ने 44 गेंदों पर 54 रन में दो चौके और तीन छक्के लगाए। केन विलियम्सन और प्रियम गर्ग ने चौथे विकेट के लिए 36 रन की साझेदारी की। विलियम्सन 12 गेंदों में दो छक्कों के सहारे 22 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि गर्ग आखिरी गेंद पर रन आउट हुए। गर्ग ने आठ गेंदों पर 15 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया। राजस्थान की तरफ से आर्चर ने 25 रन पर एक विकेट, त्यागी ने 29 रन पर एक विकेट और उनादकट ने 31 रन पर एक विकेट लिया। हैदराबाद ने इस मुकाबले के लिए अब्दुल समद की जगह विजय शंकर को टीम में शामिल किया जबकि राजस्थान के लिए बेन स्टोक्स इस सत्र में अपना पहला मैच खेलने उतरे। स्टोक्स ने पारी में एक ओवर डाला। राजस्थान ने इस मैच के लिए रियान पराग और रॉबिन उथप्पा को भी अंतिम एकादश में जगह दी। पराग ने अपने चयन को सही साबित किया।