समय बहुमूल्य है, लेकिन मनुष्य का जीवन अमूल्य है: अशोक कटारिया
January 12, 2020 • Mr Arun Mishra

> 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर रोड सेफ्टी क्लब का शुभारम्भ।

> सड़क सुरक्षा पर आधारित ब्रोशर का विमोचन।

>कार्यक्रम में 18 गुड सेमेरिटन सहित 51 लोग किये गये सम्मानित।

> नम्बर पोर्टिबिलिटी योजना एवं ऑनलाइन डीलर ट्रेड सर्टिफिकेट का शुभारम्भ। 

> सड़क सुरक्षा संबंधी कार्यों में तकनीकी परामर्श एवं सहयोग प्रदान कराने हेतु सेव लाइफ फाउंडेशन के साथ एमओयू।

लखनऊ (का ० उ ० सम्पादन)। उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अशोक कटारिया ने कहा कि वास्तविक जीवन में नायक वही लोग हैं, जो घायलों की मदद करते हैं और उनकी जान बचाते हैं। उन्होंने जब बच्चे अच्छी भूमिका लेकर के साथ आगे बढ़ेगे, तभी देश का विकास संभव होगा। उत्तर प्रदेश के अधिकांश स्कूल / कालेजों में सड़क सरक्षा के प्रति नवयुवकों में जागरूकता लाने हेतु  इस विषय को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने पर विशेष बल दिया जा रहा है। विद्यार्थियों के बीच इस विषय को ले जाने से इसके सार्थक परिणाम प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि रोड सेफ्टी क्लब को एक मुहिम के तौर पर प्रदेश भर में लागू किया जायेगा। प्रथम चरण में इसे प्रदेश के 200 स्कूलों में शुरू किया जा रहा है। श्री कटारिया बीते शनिवार को 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर यहां स्थानीय निकाय निदेशालय, गोमती नगर में आयोजित रोड सेफ्टी क्लब के शुभारम्भ एवं गुड सेमेरिटन सम्मान समारोह में बोल रहे थे। इस अवसर दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को गोल्डेन ऑवर में चिकित्सालय पहुंचाने वाले 18 गुड सेमेरिटन (नेक आदमी), 18 यातायात पुलिस एवं 15 परिवहन विभाग के अधिकारियों / कर्मचारियों को अंगवस्त्र एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। साथ ही पुरानी गाड़ी का नम्बर नये वाहन पर लेने के लिए नम्बर पोर्टिबिलिटी योजना एवं ऑनलाइन डीलर ट्रेड सर्टिफिकेट का शुभारम्भ भी किया गया। सड़क सुरक्षा संबंधी कार्यों में तकनीकी परामर्श एवं सहयोग प्रदान कराने हेतु सेव लाइफ फाउंडेशन (एसएलफ) के साथ एमओयू भी हुआ। इसके अलावा सड़क सुरक्षा पर आधारित ब्रोशर का विमोचन भी श्री कटारिया द्वारा किया गया। परिवहन मंत्री ने कहा कि समय बहुमूल्य है, लेकिन मनुष्य का जीवन अमूल्य है। किसी प्रकार की सड़क दुर्घटना न होने पाये इसके लिए सावधानी सबसे बड़ा बचाव है। जब बच्चे अच्छी भूमिका के साथ आगे बढ़ेंगे, तभी देश आगे का विकास सम्भव होगामहिलाओं को भी इस अभियान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने चाहिएउन्होंने कहा कि समस्याओं के केन्द्र स्वयं से शुरू होते हैं और खुद ही इसका समाधान करना होगा। जिस दिन से इस बात को लोग आत्मसात कर लेंगे, उस दिन से दुर्घटना कम हो जायेंगी। उन्होंने लोगों से आह्वाहन किया कि वे खुद भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी सुरक्षित रखें।