संस्थागत प्रसव कराने में रूचि नहीं ले रहे अधिकारियों के विरुद्ध होगी कठोर कार्यवाही
November 27, 2019 • Mr Arun Mishra

फर्रुखाबाद (का ० उ ० सम्पादन)। जिलाधिकारी की अध्यक्ष्ता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने समस्त एमओआईसी को निर्देशित करते हुए कहा कि ऐसी आशा जो कि संस्थागत प्रसव कराने में रूचि नहीं ले रही है, उनको चिन्हित कर चेतावनी जारी की जाय। यदि फिर भी सुधार न आये तो तत्काल सेवा समाप्त कर दी जाय। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को लगातार मॉनटरिंग / समीक्षा कर संस्थागत प्रसव बढ़ाने के निर्देश दिए।  एम ओ आई सी मोहम्मदाबाद ने बताया कि कुछ आशाओं को बर्खास्त कर दिया गया है और उसके बाद भी उनके द्वारा गर्भवती महिलाओं को प्रसव कराने हेतु प्राइवेट अस्पतालों में ले जाया जा रहा है। जिलाधिकारी ने तत्काल कड़ी कार्यवाही करने हेतु सूची बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।  सभी एमओआईसी संस्थागत प्रसव में होने वाले गैप्स को समीक्षा कर दूर करें। जिलाधिकारी ने जे एस वाई के अंतर्गत 90 प्रतिशत भुगतान करने के निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में यह भी कहा कि आशाओं का अनावश्यक शोषण न किया जाय। ससमय आशाओं का भुगतान सुनिश्चित किया जाय। आशा सम्मलेन कराकर अच्छा कार्य कर रही आशाओं को सम्मानित कराया जाए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में 27 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं जिनमें से 13 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रसव कराए जा रहे हैं। अवशेष केंद्रों पर प्रसव क्यों नहीं हो रहे हैं समीक्षा कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। कायमगंज सीएचसी में बेड कम होने की समस्या बताई गई। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को स्वयं निरीक्षण के तात्कालिक सुझाव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने 90 प्रतिशत टीककरण कराने के निर्देश दिए। परिवार कल्याण कार्यक्रम के अंतर्गत छाया टेबलेट / अन्तरा इंजेक्शन का प्रचार प्रसार अच्छे से कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि प्रधानमन्त्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत ससमय तीनों किश्तों का भुगतान सुनिश्चित कराया जाए। कमालगंज, मोहम्मदाबाद एवं फर्रुखाबाद में भुगतान की स्थिति सुधारने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि एम्बुलेंस सेवा में किसी प्रकार की अनियमितता न पायी जाय, इसका विशेष ध्यान रखें मुख्य चिकित्सा अधिकारी।  गोल्डन कार्ड वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।  गोल्डन कार्ड वितरण में अनियमितता की शिकायत मिली तो तत्काल सम्बंधित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। 100 प्रतिशत गोल्ड कार्ड वितरण के निर्देश दिए।  प्रतिदिन होगी वितरण की समीक्षा। आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चे कम आ रहे हैं इसलिए लोगों को अधिक जागरूक करें जिला कार्यक्रम अधिकारी। जिलाधिकारी ने कहा कि अस्पतालों में सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं। सफाई व्यवस्था अच्छी हो, रंगाई - पुताई कराई जाय। मरीजों के बैठने व पीने के पानी की उचित व्यवस्था कराई जाए। अस्पताल प्रांगण के आस पास किसी प्रकार की गंदगी नहीं होनी चाहिए इसका विशेष ध्यान रखा जाए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी व अन्य उपस्थित थे।