सरकार सहानुभूतिपूर्वक प्रवासी कामगारों को उनके गंतव्य स्थल तक पहुंचाने की हर संभव व्यवस्था कर रही है : उप मुख्यमंत्री
May 16, 2020 • Mr Arun Mishra

उप मुख्यमंत्री प्रवासी कामगारों के प्रति संवेदनशील, कहा संकट की घड़ी में सरकार सभी के साथ खड़ी है और हर प्रवासी की हर संभव मदद की जाएगी।

> उप मुख्यमंत्री ने किया जन प्रतिनिधियों का आवाहन, प्रवासी कामगारों को सम्मानजनक तथा सुरक्षित तरीके से उनकी घर वापसी में पूरी मदद करें।

> उत्तर प्रदेश निवेश का हब बनेगा और गांव के लोगों तथा बेरोजगार लोगों को अधिक से अधिक काम मिलेगा : केशव प्रसाद मौर्य

शनिवार 16 मई को जनपद प्रयागराज के गंगापार से जनप्रतिनिधियों एवं पार्टी पदाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संवाद करते उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य। (फोटो : सूचना अधिकारी )

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य  ने शनिवार 16 मई को प्रयागराज ( गंगा पार) के विभिन्न जनप्रतिनिधियों व समाज सेवियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वार्ता करते हुए अपील की कि करोना संकट काल में वे प्रवासी कामगारों को सम्मानजनक तथा सुरक्षित तरीके से उनकी घर वापसी में पूरी मदद करें। उन्होंने यह भी अपील की कि सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए उन्हें रास्ते में खानपान व पानी आदि उपलब्ध कराने का कार्य पूरी सेवा भावना के साथ करें। उन्होंने कहा कि सरकार सहानुभूतिपूर्वक, सुरक्षित तथा सम्मानजनक तरीके से प्रवासी लोगों को उनके गंतव्य स्थल तक पहुंचाने की हर संभव व्यवस्था कर रही है। श्री मौर्य ने कहा कि इन प्रवासी श्रमिकों को पर्याप्त रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे। इन्हें किसी भी कीमत पर भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की सभी के साथ पूरी सहानुभूति है और संकट की घड़ी में सरकार सभी के साथ खड़ी है और हर प्रवासी की हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में प्रधानमंत्री जी द्वारा आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की गई है तथा मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा भी कई महत्वपूर्ण कदम श्रमिक हितों में उठाए गए हैं। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से अपील की कि वह सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं पर नजर रखें तथा सुविधाएं उपलब्ध कराने में सहयोग भी प्रदान करें। उप मुख्यमंत्री ने प्रयागराज (गंगा पार ) के विभिन्न जनप्रतिनिधियों व समाजसेवियों से वार्ता करते हुए वहां की समस्याएं सुनी व सुझाव भी लिये और समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि इस संकट काल में गरीबों के लिए अकाउंट में सीधे पैसा जा रहा है। इस कार्य में बैंकों का भी उल्लेखनीय योगदान रहा है। गांवों की आर्थिक व्यवस्था सुदृढ़ करने तथा इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। नगरीय क्षेत्रों में पटरी दुकानदारों, ठेलिया लगाने वाले लोगों के लिए भी मदद का प्राविधान किया गया है। किसानों के लिए भी आर्थिक पैकेज में बहुत अच्छी व्यवस्था की गई है। वन डिस्ट्रिक्ट - वन प्रोडक्ट योजना के तहत उत्तर प्रदेश के लोगों को काम देने का माहौल बनाना है। हम स्वदेशी अपनाकर स्वाबलंबन व आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट काल में दुनिया का परिदृश्य बदलने वाला है और प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में भारत दुनिया का प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि किए जा रहे प्रयासों के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश निवेश का हब बनेगा और गांव के लोगों तथा बेरोजगार लोगों को अधिक से अधिक काम मिलेगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान श्री मौर्य ने सांसद श्रीमती केसरी देवी पटेल, कन्हैया लाल पांडे, आनंद दुबे, निमिष, आशीष केसरवानी, हरी भूषण सिंह, महेश चंद्र, उत्कर्ष कुमार, पवन प्रकाश गुप्ता, अनिरुद्ध सिंह पटेल, किरण त्रिवेदी, जीतलाल त्रिपाठी, कविता पटेल, गुलाबचंद मौर्य, अमरनाथ यादव आदि लोगों से वार्ता की।