सीएसएडब्लू 2019 के दूसरे दिन प्रतियोगिता जीतने के लिए जुटे हुनर
November 7, 2019 • Mr Arun Mishra
एप्लाइड रिसर्च कॉम्पिटिशन के विजेता शरद जोशी, मनार आलम और कीर्ति के।
 
कानपुर (का० उ० सम्पादन)। एप्लाइड रिसर्च प्रतियोगिता में, छात्रों ने सीएसएडब्लू बेस्ट पेपर अवार्ड के लिए भाग लिया। सीएसएडब्लू फाइनल के दौरान स्वीकृत शोध पत्र प्रस्तुत किए जाते हैं। सम्मानित संगठन से जजों को रिसर्च की मौलिकता, प्रासंगिकता और सटीकता का मूल्यांकन करने के लिए आमंत्रित किया जाता है। सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र को शीर्ष तीन प्रस्तुतियाँ में से पुरस्कृत किया जाता है। इस साल पहला सर्वश्रेष्ठ पेपर आईआईटी गांधीनगर से शरद जोशी को, आईआईटी खड़गपुर से मनार आलम को दूसरा और  तीसरा सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार आईआईटी मद्रास से कीर्ति को दिया गया। एंबेडेड सिक्योरिटी चैलेंज (ईएससी) में, एक ब्लू टीम एक लक्ष्य प्रणाली डिजाइन करती है तो वही रेड टीम इसे हैक करने की कोशिश करती हैं। इस वर्ष का विषय रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) था। प्रतिभागियों ने चुनौती को क्रैक करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों और कार्यप्रणालियों को जजों के सामने प्रस्तुत किया। सम्मानित की जाने वाली शीर्ष तीन टीमों में आईआईटी मद्रास से टीम कर्नेल पैनिक्, कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी केरल से टीम इन्स्पायरा  और आईआईटी धारवाड़ की टीमें थी। सी3आई केंद्र ने कौशल को बढ़ाने और फील्ड उपकरणों, संचार प्रोटोकॉल, मानव मशीन इंटरफेस (एचएमआई) और एससीएडीए अनुप्रयोगों सहित नियंत्रण प्रणाली के इंडिविजुअल कंपोनेंट्स को समझने के लिए एक साइबर सुरक्षा कार्यशाला आयोजित की है। वल्नेरेबिलिटी असेसमेंट और पेनेट्रेशन टेस्टिंग, इंट्रूशन डिटेक्शन सिस्टम, हनीपॉट डिप्लॉयमेंट और मैलवेयर विश्लेषण पर सुरक्षा कार्यशाला प्रमुख अवधारणाएँ रहीं।
एंबेडेड सिक्योरिटी चैलेंज के विजेता आईआईटी मद्रास की टीम कर्नेल पैनिक।
 
सीएसएडब्लू इवेंट ने दो प्रतिस्पर्धी इवेंट - एप्लाइड रिसर्च कॉम्पिटिशन (एआरसी ) और एंबेडेड सिक्योरिटी चैलेंज (ईएससी) के फाइनल को पूर्ण किया।

विजेता इस प्रकार हैं:
एप्लाइड रिसर्च कॉम्पिटिशन:
 
प्रथम शरद जोशी, आईआईटी गांधीनगर।
 
द्वितीय मनार आलम, आईआईटी खड़गपुर।
 
तृतीय कीर्ति के, आईआईटी मद्रास

एंबेडेड सिक्योरिटी चैलेंज:

आईआईटी मद्रास की टीम कर्नेल पैनिक (सरीना करापुल्ला, निखिलेश सिंह, गोकुलन रवि) द्वारा प्रथम पुरस्कार जीता गया

सीयूसीएटी की टीम इन्स्पायरा (अखिल पी, अजय जॉन, गीशा सीजी, दीपा मैथ्यू) द्वारा दूसरा पुरस्कार जीता गया

तृतीय पुरस्कार आईआईटी धारवाड़ (अर्पित अग्रवाल, जे गार्चर, अनुदीप तुबाती और रोहन श्रोत्रियम) द्वारा जीता गया