स्नानार्थियों के सुगम स्नान हेतु लगभग 20 स्नान घाटों का कराया गया निर्माण
January 24, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं का मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने का अनुमान।
卐 एडीजी जोन एवं मण्डलायुक्त ने मौनी अमावस्या के पूर्व अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए दिए आवश्यक दिशा-निर्देश।
卐 श्रद्धालुओं के साथ शालीन व्यवहार करें अधिकारी - मडलायुक्त, प्रयागराज
卐 नगर वासियों से रूट डायवर्जन की स्थिति में सहयोग प्रदान करने की प्रशासन ने की अपील।
卐 मेला क्षेत्र में लावारिस या संदिग्ध वस्तु/व्यक्ति दिखाई देने पर एएस चेक टीम से चेक कराकर उसका निराकरण सुनिश्चित करें - एडीजी जोन
प्रयागराज। मण्डलायुक्त प्रयागराज डॉ आशीष कुमार गोयल एवं एडीजी जोन प्रयागराज प्रेम प्रकाश की अध्यक्षता में मेला क्षेत्र स्थित गंगोत्री सभागार में महत्वपूर्ण स्नान पर्व मौनी अमावस्या के पूर्व जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान कियेे। मण्डलायुक्त ने जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन को आपस में समन्वय स्थापित कर मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो, इसका ध्यान रखने के निर्देश दिये। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के प्रति आपका व्यवहार शालीन होना चाहिए। मेले में जिन अधिकारियों/कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है वे अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी निष्ठा के साथ करेंगे। मण्डलायुक्त एवं एडीजी जोन ने नगर वासियों से अपील की है कि रूट डायवर्जन होने की स्थिति में अपना सहयोग प्रदान करें, जिससे कि श्रद्धालुओं को सुचारू रूप से मौनी अमावस्या का स्नान कराया जा सके। उन्होंने सबसे महत्वपूर्ण स्नान पर्व मौनी अमावस्या के दृष्टिगत मेला प्रशासन की तैयारियों की जानकारी ली, जिसपर मेला प्रशासन ने बताया कि स्नान की लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। एक करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के आस्था के संगम में डुबकी लगाने की आशा की जा रही है। स्नानार्थियों के सुगम स्नान हेतु लगभग 20 स्नान घाटों का निर्माण 08 किमी से अधिक क्षेत्र में किया गया है। लगभग 25000 शौचालय सुचारू रूप से चल रहे है। मेले में शान्ति एवं सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत आरएएफ एवं पीएसी तथा नागरिक सुरक्षा के जवानों द्वारा सतत् निगरानी रखी जा रही है। पुलिस कर्मियों को स्नानार्थियों के साथ अच्छा व्यवहार करने के निर्देश दिए गए हैं। बैठक में तृतीय स्नानपर्व को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज जोन/मण्डलायुक्त प्रयागराज द्वारा सभी को शुभकामनाएं देते हुए निर्देशित किया गया कि स्नान प्रारंभ होने से पूर्व सभी अपने ड्यूटी स्थल व आसपास के क्षेत्र को भलीभांति चेक करेंगे तथा यदि किसी प्रकार की लावारिस या संदिग्ध वस्तु/व्यक्ति दिखाई दे तो एएस चेक टीम से चेक कराकर तत्काल उसका निराकरण करें। मेला क्षेत्र में आने-जाने के लिए पाण्टुन पुलों पर जो मार्ग निर्धारित है, उसके अनुसार ही यातायात संचालित किया जाय। सभी थाना प्रभारी माघ मेला अपने थाने में तैनात कर्मचारियों को उनकी ड्यूटी के बारे में विधिवत ब्रीफ कर दें। सभी अधिकारी/कर्मचारी समर्पण/सेवाभाव से सतर्कतापूर्वक ड्यूटी संपादित करेंगे। स्नानघाटों पर जहां कटान है, उस ओर स्नानार्थिंयों/श्रद्धालुओं को न जाने दिया जाय। दिनांक 24 जनवरी को अक्षयवट, सरस्वतीकूप एवं पातालपुरी के दर्शन सुलभ नहीं हो सकेंगे, जिसके लिए श्रद्धालुओं को अवगत कराये जाने हेतु नियमानुसार ड्यूटियां लगायी गयी हैं। बैठक में जिलाधिकारी प्रयागराज भानुचंद्र गोस्वामी, आईजी के पी सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज, प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष टी के शिबू, नगर आयुक्त रवि रंजन सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।