तीसरे स्थान पर पहुंची कोलकाता नाइटराइडर्स, चेन्नई सुपरकिंग्स को 10 रनों से हराया 
October 8, 2020 • Mr Arun Mishra

> चेन्नई की तरफ से ड्वेन ब्रावो ने चार ओवर में 37 रन देकर तीन विकेट लिए।

> महेंद्र सिंह धोनी ने विकेट के पीछे चार कैच लपके।

> चेन्नई के शेन वाटसन ने 40 गेंदों पर 50 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया। 

> शेन वाटसन ने एक बार फिर शानदार पारी खेली और अंबाटी रायुडू के साथ दूसरे विकेट के लिए 69 रन जोड़े।

इस मैच के हीरो रहे 29 वर्षीय राहुल ने 51 गेंदों पर 81 रन की बेहतरीन पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाए। राहुल को अनअकैडेमी लेट्स क्रैक इट सिक्सेस अवार्ड भी मिला।

अबु धाबी (वार्ता)। सलामी बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी की 81 रन की शानदार पारी और गेंदबाजों के सटीक प्रदर्शन की बदौलत कोलकाता नाइटराइडर्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को आईपीएल मुकाबले में बुधवार को 10 रन से हराकर टूर्नामेंट में अपनी तीसरी जीत दर्ज की। कोलकाता अब तालिका में तीसरे स्थान पर पहुंच गयी है। कोलकाता ने 20 ओवर में 167 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और चेन्नई को पांच विकेट पर 157 रन पर रोककर पांच मैचों में अपनी तीसरी जीत हासिल की। पिछला मैच 10 विकेट से जीतने वाली चेन्नई ने इस बार में बल्ले से निराशाजनक खेल दिखाया और उसे छह मैचों में चौथी हार का सामना करना पड़ा। इस मैच के हीरो रहे 29 वर्षीय राहुल ने 51 गेंदों पर 81 रन की बेहतरीन पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाए। उन्होंने अकेले अपने दम पर कोलकाता की पारी को संभाले रखा। कोलकाता की पारी में दूसरा सबसे बड़ा योगदान सुनील नारायण और पैट कमिंस का 17-17 रन रहा। कमिंस अंत में नाबाद रहे। कोलकाता ने पारी के आखिरी ओवर में कमलेश नागरकोटी, शिवम दुबे और वरुण चक्रवर्ती के विकेट गंवाए और उसकी पूरी पारी सिमट गयी। कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन राहुल को छोड़कर कोई अन्य बल्लेबाज ज्यादा देर विकेट पर नहीं टिक पाया। ओपनर शुभमन गिल ने 12 गेंदों पर 11 रन, नीतीश राणा ने 10 गेंदों पर नौ रन, नारायण ने नौ गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 17 रन, इयोन मोर्गन ने 10 गेंदों में 7 रन, आंद्रे रसेल ने सात गेंदों में 2 रन, कप्तान दिनेश कार्तिक ने 11 गेंदों में 12 रन और कमिंस ने नौ गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 17 रन बनाये। चेन्नई की तरफ से ड्वेन ब्रावो ने चार ओवर में 37 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि सैम करेन, कर्ण शर्मा और शार्दुल ठाकुर ने दो-दो विकेट लिए। चेन्नई के कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने विकेट के पीछे चार कैच लपके। लेकिन धोनी ने बल्ले से अपनी टीम को एक बार फिर निराश किया। लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई ने फाफ डू प्लेसिस को टीम के 30 के स्कोर पर गंवाया। डू प्लेसिस ने 10 गेंदों पर 17 रन में तीन चौके लगाए। उन्हें शिवम मावी ने विकेट के पीछे कप्तान दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया।
पिछले मैच में नाबाद अर्धशतक बनाने वाले सलामी बल्लेबाज शेन वाटसन ने एक बार फिर शानदार पारी खेली और अंबाटी रायुडू के साथ दूसरे विकेट के लिए 69 रन जोड़े। जम कर खेल रहे रायुडू को कमलेश नागरकोटी ने आउट किया। रायुडू ने 27 गेंदों पर 30 रन में तीन चौके लगाए। रायुडू का विकेट 99 के स्कोर पर गिरा। चेन्नई को इसके दो रन बाद सबसे बड़ा झटका लगा जब वाटसन को अबूझ स्पिनर सुनील नारायण ने आउट कर दिया। वाटसन पगबाधा हुए। उन्होंने डीआरएस लिया लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ और अम्पायर का फैसला बरकरार रहा। वाटसन ने 40 गेंदों पर 50 रन में छह चौके और एक छक्का लगाया।  मैदान पर उतरे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को एक बार फिर रन बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ा और वह 12 गेंदों में 11 रन बनाकर स्पिनर वरुण चक्रवर्ती की गेंद पर बोल्ड हो गए। सैम करेन ने 11 गेंदों में एक चौका और एक छक्का लगाकर 17 रन बनाये लेकिन उन्हें आंद्रे रसेल ने आउट कर दिया। चेन्नई का पांचवां विकेट129 के स्कोर पर गिरा। चेन्नई ने 30 रन के अंतराल में चार विकेट गंवा दिए और टीम संकट में फंस गयी। रन गति बढ़ती गयी और चेन्नई को आखिरी ओवर में जीत के लिए 26 रन चाहिए थे। कोलकाता का डग आउट अब प्रफुल्लित दिखाई दे रहा था। हालांकि रवींद्र जडेजा ने पारी की अंतिम तीन गेंदों पर छक्का, चौका और चौका लगाया लेकिन तब तक बाजी हाथ से निकल चुकी थी। जडेजा आठ गेंदों पर 21 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि केदार जाधव ने 12 गेंदों पर नाबाद सात रन बनाये। कोलकाता की तरफ से मावी, चक्रवर्ती, नागरकोटी, नारायण और रसेल ने एक-एक विकेट लिया।