उ प्र तथा बिहार को जोड़ने वाले खरीद-दरौली घाट पर निर्माणाधीन सेतु की होगी जांच
June 19, 2020 • Mr Arun Mishra

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बलिया जनपद में सरयू नदी पर उत्तर प्रदेश-बिहार को जोड़ने वाले खरीद-दरौली घाट पर निर्माणाधीन पुल के 02 पिलर टेढ़े होने के मामले को अत्यन्त गम्भीरता से लिया है। उप मुख्यमंत्री ने बताया कि उनके संज्ञान में लाया गया है कि इस पुल के निर्माण में लापरवाही बरती गयी है और पुल के 02 पिलर टेढ़े हो गये हैं। उन्होंने इस मामले में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग व प्रबन्ध निदेशक उ प्र राज्य सेतु निगम को निर्देश दिये हैं कि तत्काल इस प्रकरण की जांच करायी जाय तथा दोषी लोगों के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाय। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं कि एक उच्च स्तरीय तकनीकी समिति का गठन करके सम्पूर्ण मामले की जांच करायी जाय तथा समस्या का समाधान करते हुए यह सुनिश्चित किया जाय कि भविष्य में कहीं पर भी इस प्रकार की स्थिति न आने पाये। श्री मौर्य ने जांच की कार्यवाही 15 दिन में पूर्ण कर दोषी लोगों के विरूद्ध कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।

निर्माणाधीन पुल की जांच हेतु 4 सदस्य कमेटी की गई गठित

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बताया कि उत्तर प्रदेश एवं बिहार को जोड़ने वाले खरीद - दरौली घाट पर निर्माणाधीन पक्का पुल के दो पिलर के टेढ़े होने की सूचना विभिन्न समाचार माध्यमों से प्राप्त हुई। इस सेतु का निर्माण उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम द्वारा कराया जा रहा है। पिलरों के टेढ़े होने के कारणों की तकनीकी जांच एवं कार्यों में की गई लापरवाही के उत्तरदायित्व निर्धारण हेतु मुख्य अभियंता सेतु, लोक निर्माण विभाग की अध्यक्षता में 4 सदस्यी कमेटी का गठन किया गया है। जिसमें महाप्रबंधक उ प्र राज्य सेतु निगम गोरखपुर सुनील कुमार, मुख्य परियोजना प्रबंधक उ प्र राज्य सेतु निगम दीपक गोविल, मुख्य परियोजना प्रबंधक उ प्र राज्य सेतु निगम वाराणसी देवेंद्र सिंह, मुख्य परियोजना प्रबंधक उ प्र राज्य सेतु निगम बरेली को सदस्य नामित किया गया है। समिति को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपनी तथ्यात्मक जांच आख्या एक सप्ताह के अंदर शासन को उपलब्ध कराएं।