उप मुख्यमंत्री ने की अपील, लोग पुस्तकों का अध्ययन कर अपने अनुभवों को साझा करें
April 24, 2020 • Mr Arun Mishra
卐 उप मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर विश्व पुस्तक दिवस की दी बधाई।
 
卐 गौवंशों को चारे की हो रही है उचित व्यवस्था: उप मुख्यमंत्री 
 
卐 कम्युनिटी किचन सेंटर मानवता की सेवा का अच्छा प्लेटफार्म: केशव प्रसाद मौर्य
 
 
लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग )। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरूवार 23 अप्रैल को विश्व पुस्तक दिवस के अवसर पर सभी को विश्व पुस्तक दिवस की बधाई देते हुए अपील की कि लोग पुस्तकों का अध्ययन कर अपने अनुभवों को साझा करें और कोरोना से लड़ाई में सहयोग प्रदान करें। उन्होंने विश्व पुस्तक दिवस के अवसर पर अपने आवास पर स्वामी विवेकानंद व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के जीवन पर आधारित कुछ पुस्तकों का अध्ययन करते हुए कहा कि पुस्तकें ज्ञान का भंडार होती हैं और इनके अध्ययन से समाज को व देश को एक नई दिशा मिलती है। श्री केशव प्रसाद ने कहा है कि कोरोना वैश्विक महामारी को नियंत्रित करने में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयास सराहनीय हैं और इस महामारी को नियंत्रित करने में हमारे प्रधानमंत्री दुनिया में प्रथम पायदान पर हैं। प्रधानमंत्री जी ने समय रहते लाॅकडाउन घोषित किया और बाद में भी सुरक्षा की दृष्टि से उसे बढ़ाया। आवश्यकतानुसार राज्यों के मुख्यमंत्रियों व अन्य अनुभवी लोगों से चर्चा की। वह कोरोना योद्धाओं, पुलिसकर्मियों और दूसरे लोगों का उत्साहवर्धन भी करते रहे और जनता से लगातार सकारात्मक संवाद स्थापित करते रहे और जनता से सहयोग की अपील भी करते रहे और कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि कोरोना  वारियर्स का अभिनंदन करें और उनका उत्साहवर्धन करें। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश गौ संरक्षण एवं संवर्धन योजना के अंतर्गत अस्थाई गौवंश आश्रय स्थल एवं वृहद गौ संरक्षण केंद्रों में संरक्षित निराश्रित एवं बेसहारा गौवंश के खाने के लिए भूसा, चारा, चूनी चोकर आदि की व्यवस्था कराई जा रही है। इसके भंडारण की भी व्यवस्था संबंधित लोग कर लें। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक किसानों की मदद की गई है। उन्होने गेहूं खरीद केंद्रों पर गेहूँ खरीद व राशन की दुकानों पर खाद्यान्न वितरण के समय अधिकारियों से निगरानी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कम्युनिटी किचन सेंटरों के माध्यम से जरूरतमंदों व गरीबों को गुणवत्तायुक्त भोजन व राशन वितरित कर मानवता की सेवा का अच्छा संदेश दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शेल्टर होम और कम्यूनिटी किचन सेंटरों पर भी सैनिटाइजेशन कराया जाए, तो ठीक रहेगा। उन्होंने कहा कि यह सेन्टर जिला प्रशासन के संज्ञान में लाए बगैर न चलाए जाएं। उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा जन सहयोग से पूरे प्रदेश में कम्यूनिटी किचन सेंटरों का संचालन किया जा रहा है। आज लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व निर्माण निगम के माध्यम से जन सहयोग द्वारा 7193 भोजन के पैकेट और 3130 राशन के पैकेट वितरित किए गए तथा अब तक 164190 पैकेट भोजन सामग्री तथा 78225 राशन सामग्री के पैकेट वितरित किए जा चुके हैं।