उपभोक्ता शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई और उनकी संतुष्टि ही हमारा ध्येय होना चाहिए : श्रीकांत शर्मा
April 27, 2020 • Mr Arun Mishra

> आंधी और बारिश की वजह से जिन क्षेत्रों में विद्युत् आपूर्ति प्रभावित हुई है वहां तत्काल मेंटिनेंस के काम में तेजी लाने के निर्देश।

> कृषि फीडरों पर दिन में सुबह 7 से शाम 5 बजे तक 10 घंटे निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित रहे :

> यूपीपीसीएल अध्यक्ष को इसकी जनपदवार समीक्षा करने के निर्देश।

> संविदाकर्मी का वेतन समय से मिले :

> सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने हेतु सभी बिलिंग उपकेंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग सर्कल्स बन जाएं : ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री, उ प्र

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकांत शर्मा ने गांव व शहर सभी में रोस्टर के अनुसार निर्बाध विद्युत आपूर्ति किये जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने आंधी और बारिश की वजह से जिन क्षेत्रों में आपूर्ति प्रभावित हुई है वहां तत्काल मेंटिनेंस के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रमीण क्षेत्रों में जहां पोल-तार टूटे हैं वहां अविलंब आपूर्ति बहाल की जाए। श्री शर्मा सोमवार 27 अप्रैल को शक्तिभवन में आगरा व अलीगढ़ मंडल के तहत आने वाले क्षेत्रों के जनप्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर लॉकडाउन के दौरान विद्युत आपूर्ति की समीक्षा कर रहे थे। वीडियो कांफ्रेंसिंग में आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, कासगंज, एटा, अलीगढ़, हाथरस व मैनपुरी के संसद, मंत्री, विधायकों के साथ जूनियर इंजीनयर स्तर तक के सभी अधिकारी शामिल रहे। उन्होंने कहा कि कृषि फीडरों पर दिन में सुबह 7 से शाम 5 बजे तक 10 घंटे निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित रहे जिससे किसान खेतों की सिंचाई, गेहूं की मड़ाई व अन्य कृषि संबंधी कार्य करने में कठिनाई नहीं होनी चाहिए। सभी वितरण कंपनियों के प्रबंध निदेशक इसकी विशेष समीक्षा व निगरानी करें। गर्मियों के दृष्टिगत निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए जिलों में पर्याप्त वितरण ट्रांसफार्मर, पोल, तार व अन्य जरूरी सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित कर लें। उपभोक्ता शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई और उनकी संतुष्टि ही हमारा ध्येय होना चाहिए। यह संकट का समय है ऐसे में उपभोक्ता तक निर्बाध बिजली पहुंचे यही हमारा मुख्य कार्य है। उन्होंने यूपीपीसीएल अध्यक्ष को इसकी जनपदवार समीक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्बाध आपूर्ति के लिए यह जरूरी है कि जो उपकेंद्र बनकर तैयार हो गए हैं उन्हें तत्काल शुरू करवा दिया जाए। इसके लिए लोकार्पण की प्रतीक्षा न की जाएउन्होंने क्रिटिकल क्षेत्रों में ट्रॉली ट्रांसफार्मर्स की भी व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि के काम भी तेज गति से पूरा किये जाने का निर्देश दिया। सौभाग्य के छूटे हुए कार्यों को भी तत्काल शुरू कराये जाने के निर्देश दिए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि ऊर्जा विभाग के कोरोना वारियर्स दिन-रात मेहनत कर निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे हैं। जनप्रतिनिधियों ने ऊर्जा विभाग के कोरोना वारियर्स के कार्यों की प्रशंसा की। सभी ने कहा कि जिस प्रकार विद्युत विभाग के कार्मिक संकट काल में अपनी प्रतिबद्धता दिखा रहे हैं वह अनुकरणीय है। ऊर्जा मंत्री ने निर्देशित किया कि संविदाकर्मी का वेतन समय से मिले सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सोशल मीडिया के माध्यम से शिकायतों को सुने, 1912 की शिकायतों और टेलीफोन पर आने वाली शिकायतों को भी तेजी से निस्तारित करेंजनता के बीच विद्युत विभाग की छवि बहुत अच्छी हुई है, यह और भी बेहतर हो इसके लिए सभी मिलकर प्रयास करें। उपभोक्ता की संतुष्टि ही हमारी संतुष्टि है, इस बात का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि अधिकारी सभी उपकेंद्रों पर यह सुनिश्चित कर लें कि कहीं भी सुरक्षा में कोई लापरवाही न हो। सभी मेडिकल प्रोटोकॉल्स का पालन हो। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने हेतु सभी बिलिंग उपकेंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग सर्कल्स बन जाएं। कहा कि कर्मचारियों की सुरक्षा से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। वह मंगलवार को आजमगढ़, बलिया, मऊ, वाराणसी, गाजीपुर, जौनपुर और चंदौली जनपदों के जनप्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये आपूर्ति की समीक्षा करेंगे।