उत्तम स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लॉकडाउन की यह कार्यवाही: योगी आदित्यनाथ
March 28, 2020 • Mr Arun Mishra

> उ प्र के वे लोग जो अन्य राज्यों में हैं, उन राज्यों में तात्कालिक रूप से रहने की व्यवस्था व सुविधा सुनिश्चित करेंगे नोडल अधिकारी: मुख्यमंत्री 

लखनऊ (मुख्यमंत्री सूचना परिसर) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड - 19 के संक्रमण को जेलों में रोकने के लिए मा सर्वोच्च न्यायालय ने 23 मार्च को 7 वर्ष से कम सजा प्राप्त करने वाले कैदियों के बारे में एक महत्वपूर्ण निर्णय दिया था, जिसमें उन सभी बंदियों को बेल पर या पैरोल पर छोड़ने के लिए आदेश दिया था। जो पैरोल पर छोड़े जा रहे हैं, उसकी एक सामान्य प्रक्रिया है और जिन्हें बेल दिया जाना है उनके डिस्ट्रिक जज जनपद में जाकर, उन सबको बेल उपलब्ध कराएंगे। यह कार्रवाई तत्काल प्रभाव से प्रारंभ होने जा रही है। सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा के साथ हमारे डीजी, जेल और अपर मुख्य सचिव, गृह की कमिटी ने 11,000 से अधिक ऐसे मामले पाए हैं। उत्तर प्रदेश की जेलों के 11,000 बंदियों को पैरोल या बेल पर छोड़ने का निर्णय लिया गया है। कुछ राज्य जो कल की सूची से छूट गए थे, जैसे ओडिशा, पूर्वोत्तर के राज्य, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, केरल, तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ के लिए भी हमने नए नोडल अधिकारी तैनात किए हैं। उत्तर प्रदेश के नागरिक बहुत बड़ी संख्या में देश के अलग-अलग राज्यों में भी रहते हैं, इसके लिए भी हम लोगों ने अपने नोडल अधिकारी तैनात किए हैं। प्रदेश में लॉकडाउन की स्थिति के लिए पहले ही 11 कमिटियां बनाई हैं, जो प्रदेश की 23 करोड़ जनता या प्रदेश में रह रहे सभी नागरिकों की सुविधा और समस्या का समाधान करने के लिए कार्य कर रही हैं। सीएम ने कहा कि उ प्र के वे लोग जो अन्य राज्यों में हैं, नौकरी-पेशा या किसी रोजगार से जुड़े हुए हैं या लॉकडाउन के कारण उनका उद्योग बंद हुआ है, उन राज्यों में ही तात्कालिक रूप से रहने की व्यवस्था और उन्हें असुविधा न हो, यह भी नोडल अधिकारी सुनिश्चित करेंगे। नोडल अधिकारी, अन्य प्रदेशों के जो नागरिक उत्तर प्रदेश में हैं उनके बारे में संबंधित जिला प्रशासन को आवश्यक सूचनाएं देने और उनको किसी प्रकार से कोई समस्या न हो, इसकी चिंता करेंगे। कोविड वायरस के संक्रमण से देशवासियों को बचाने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने बहुत महत्वपूर्ण अभियान का हिस्सा हम सबको बनाया है और प्रत्येक देशवासी को इसमें सहयोग करना चाहिए। सीएम ने कहा कि मेरी उत्तर प्रदेश के सभी नागरिकों, जो प्रदेश में या प्रदेश के बाहर हैं, उनसे विनम्र अपील है कि लॉकडाउन की यह कार्रवाई, उनके उत्तम स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। रास्ते में बीमारी भी उनके साथ आ सकती है इसलिए इस दौरान यात्रा कतई न करें। अगर उन राज्यों में कोई समस्या आ रही है तो वे हमारे नोडल अधिकारियों को बताएं, वहां के सक्षम अधिकारियों से मिलकर उनकी लिए सारी सुविधा, वहां सुनिश्चित की जाएगी। 14 अप्रैल तक वे वहीं रहें। उनके लिए सारी सुविधाएं संबंधित राज्य सरकारें उपलब्ध कराएंगी। भारत सरकार ने इसके लिए एनडीआरएफ में धन की व्यवस्था की है। सभी राज्य सरकारों को पर्याप्त धनराशि उपलब्ध कराई गई है। थोड़ी सी लापरवाही भी देश में बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकती है। इटली, स्पेन, ईरान या दुनिया के जिन देशों ने थोड़ी भी लापरवाही बरती है, हम वहां का मंजर देख सकते हैं। आपके और आपके परिवार के उत्तम स्वास्थ्य और एक सुरक्षित भविष्य के लिए लॉकडाउन की इस कार्रवाई में आपका पूरा समर्थन इस पूरे अभियान में हमें चाहिए। आपकी सेवा के लिए हम लोग हमेशा तत्पर हैं और कहीं भी कोई असुविधा नहीं होने दें। कोविड - 19 को हराने के लिए आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की पहल, पीएम केयर्स के माध्यम से हम सब मिल कर इन विषम परिस्थितियों का सामना करने के लिए बेहतर तरीके से तैयार हो सकते हैं। आइए, हम सब एकजुट होकर एवं अपनी सामर्थ्य के अनुसार इसमें सहयोग करें।