उत्तर प्रदेश के 16 परिक्षेत्रीय मुख्यालयों पर एक-एक साइबर क्राइम पुलिस थाने की होगी स्थापना
February 5, 2020 • Mr Arun Mishra

> कानपुर परिक्षेत्र में स्थापित होगा साइबर क्राइम थाना।

> इण्टरनेट धोखाधड़ी से सम्बन्धित अपराधियों के विरुद्ध विधि संगत कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जा सकेगा।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में आज यहां लोक भवन में सम्पन्न मंत्रिपरिषद की बैठक में निम्नलिखित महत्वपूर्ण निर्णय लिए जिसमें लखनऊ एवं गौतमबुद्धनगर के साइबर क्राइम पुलिस थानों के अधिकारिता क्षेत्र को अधिसूचना में रेखांकित व अंकित करने तथा उत्तर प्रदेश के 16 परिक्षेत्रीय मुख्यालयों पर एक-एक साइबर क्राइम पुलिस थाने की स्थापना का निर्णय। मंत्रिपरिषद ने लखनऊ एवं गौतमबुद्धनगर के साइबर क्राइम पुलिस थानों के अधिकारिता क्षेत्र को अधिसूचना में रेखांकित व अंकित करने तथा उत्तर प्रदेश के 16 परिक्षेत्रीय मुख्यालयों पर एक-एक साइबर क्राइम पुलिस थाने की स्थापना करने का निर्णय लिया है। यह साइबर क्राइम पुलिस थाने जनपद बरेली, मुरादाबाद, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, कानपुर, झांसी, प्रयागराज, चित्रकूट, गोरखपुर, देवीपाटन, बस्ती, वाराणसी, आजमगढ़, मिर्जापुर व अयोध्या में स्थापित किए जाएंगे। प्रदेश में साइबर क्राइम पर प्रभावी नियंत्रण के सम्बन्ध में पुलिस महानिदेशक, उत्तर प्रदेश के पत्र दिनांक 26 जून, 2019 एवं उत्तर प्रदेश पुलिस मुख्यालय के प्रस्ताव दिनांक 02 जनवरी, 2020 द्वारा उत्तर प्रदेश में साइबर क्राइम पुलिस थाना की स्थापना का प्रस्ताव प्रेषित किया गया है। इस प्रस्ताव में अवगत कराया गया कि उ प्र राज्य में आईटी एक्ट के अन्तर्गत समस्त अपराधों की रोकथाम एवं साइबर अपराध से सम्बन्धित सूचना-अभिसूचना एकत्र करने, अन्वेषण / जांच करने एवं साइबर क्राइम थाना, लखनऊ एवं गौतमबुद्धनगर से प्रदेश के अधिकतर जनपदों की दूरी काफी अधिक होने के दृष्टिगत प्रदेश के 16 परिक्षेत्रीय मुख्यालयों पर एक-एक साइबर क्राइम पुलिस थाना की स्थापना की नितान्त आवश्यकता है, ताकि इण्टरनेट का प्रयोग कर की गयी धोखाधड़ी / इससे सम्बन्धित अपराधों के शिकार पीड़ितों की शिकायतों को दर्ज कर अपराधियों के विरुद्ध विधि संगत कार्यवाही की जा सके तथा जनपदों के विभिन्न थानों में पंजीकृत साइबर अपराधों की विवेचना में सहयोग प्रदान किया जा सके।