उत्तर प्रदेश में जैपनीज इस्टेट तथा जैपनीज इकोसिस्टम विकसित किया जायेगा : सिद्धार्थ नाथ सिंह
May 8, 2020 • Mr Arun Mishra

> श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भारत में जापान के राजदूत के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग से किया संवाद।

> सरकार द्वारा 25 हजार हेक्टेयर भूमि को उद्योगों के लिए नोटिफाई किया गया : सिद्धार्थ नाथ सिंह 

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की प्रबल इच्छा है कि राज्य में अधिक से अधिक निवेश आये और लोगों को वृहद स्तर पर रोजगार के अवसर प्राप्त हो। इसी कड़ी में गुरुवार 7 मई को उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निवेश एवं निर्यात प्रोत्साहन, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने भारत में जापान के राजदूत सतोशी सुजुकी एवं उनके काउंसलर्स तमुका कजीता, रीयोजी फुरउई के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद स्थापित किया और यूपी में निवेश की अपार संभावनाओं से उन्हें अवगत कराया। इस मौके पर प्रमुख सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डॉ नवनीत सहगल एवं वित्तीय सलाकार केवी राजू भी मौजूद थे। श्री सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में औद्योगिक क्रियाकलापों व आर्थिक गतिविधियों को पुनः पटरी पर लाने के लिए नये औद्योगिक निवेश के अवसर पैदा करने पर विशेष बल दिया जा रहा है। राज्य में नये औद्योगिक निवेश करने एवं पूर्व में स्थापित औद्योगिक प्रतिष्ठानों व कारखानों के लिए श्रम नियमों में 1000 दिवसों अर्थात तीन वर्ष की अवधि हेतु अस्थाई छूट प्रदान की गई है। इस हेतु उत्तर प्रदेश कतिपय श्रम विधियों से अस्थाई छूट अध्यादेश 2020 लाया गया है। उन्होंने वार्ता के दौरान श्री सुजुकी को उत्तर प्रदेश में शीघ्र आने वाली इलेक्ट्रानिक, लॉजिस्टिक, फूड प्रोसेसिंग आदि पालिसी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जैपनीज इस्टेट तथा जैपनीज इकोसिस्टम विकसित किया जायेगा। यूपी में जापान के उद्यमियों की सुविधा हेतु जैपनीज हेल्प डेस्क स्थापित करायी जायेगी। राज्य के वित्तीय सलाकार केवी राजू के देख - रेख में यह डेस्क कार्य करेगी। उन्होंने एम्बेसडर को उत्तर प्रदेश की विशिष्टियों से अवगत कराते हुए कहा कि राज्य में उद्यम स्थापना के लिए पर्याप्त भूमि एवं बड़ी संख्या में कुशल मानव संसाधन उपलब्ध है। सरकार द्वारा 25 हजार हेक्टेयर भूमि को उद्योगों के लिए नोटिफाई किया गया है। श्री सिंह ने कहा कि उद्यमियों को एक प्लेटफार्म पर सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए सिंगल विन्डो सिस्टम निवेश मित्र पोर्टल शुरू किया गया है। निवेश को आकर्षित करने के लिए 21 प्रकार की इण्डस्ट्रियल सेक्टोरियल पालिसी लागू की गई है। राज्य में निजी औद्योगिक पार्क स्थापित कराने पर विशेष बल दिया गया है। खासतौर से मेडिकल एवं फार्मासिटिकल सेक्टर पर फोकस किया जा रहा है। रोड कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया जा रहा। नोएडा में अंतर्राष्ट्रीय जेवर एअरपोर्ट की स्थापना कराई जा रही है। इसी प्रकार प्रदेश में 11 अन्य एअरपोर्ट को भी विकसित करने का कार्य किया जा रहा है। इसके साथ प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बौद्ध सर्किट तैयार कराया जा रहा है। श्री सुजुकी ने कोविड 19 से बचाव एवं उद्यमियों की सुविधा हेतु उठाये गये राज्य सरकार के विशेष कदमों की सरहाना की। उन्होंने कहा कि जापान सरकार ने कोविड 19 के कारण चीन से पलायन करने वाली कम्पनियों को अन्य देशों में उद्यम स्थापित करने में सहयोग के लिए 2.2 बिलियन डालर का फण्ड सृजित किया है। यूपी में मानव सम्पदा को बड़े स्किलिंग प्रोगाम से जोड़ा जा सकता है। उन्होंने आश्वस्त किया कि जापान की सभी बड़ी कम्पनियों से यूपी सरकार का सम्पर्क कराया जायेगा। इसके अतिरिक्त उन्होंने उत्तर प्रदेश में जैपनीज उद्यमियों की सुविधा के लिए जैपनीज एक्सटर्नल ट्रेड रिलेशन आर्गेनाइजेशन बनाने की पहल भी की है।