वर्तमान सरकार ने लोगों की अपेक्षाओं के अनुरूप बस अड्डों को भी हवाई अड्डों की तर्ज पर विकसित करने का कार्य किया : मुख्यमंत्री
July 16, 2020 • Mr Arun Mishra

> मुख्यमंत्री ने उ प्र राज्य सड़क परिवहन निगम के 06 बस स्टेशनों का लोकार्पण एवं 07 बस स्टेशनों का शिलान्यास किया।

> मुख्यमंत्री ने परिवहन निगम की बसों को झण्डी दिखाकर रवाना किया।

> लॉकडाउन में परिवहन निगम ने आपदा में कामगारों और श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचाने का सराहनीय कार्य किया : मुख्यमंत्री

> लॉकडाउन में मात्र 48 घण्टे में साढ़े तीन से चार लाख लोगों को सुरक्षित गंतव्य तक पहुंचाने का कार्य किया गया : मुख्यमंत्री

> विशेष श्रमिक ट्रेनों के संचालन के लिए उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री जी तथा रेल मंत्री जी का आभारी : मुख्यमंत्री

> प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले कोटा में प्रदेश के विद्यार्थी परिवहन निगम द्वारा सुरक्षित घर पहुंचाए गए : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 16 जुलाई 2020 को अपने सरकारी आवास 5, कालीदास मार्ग लखनऊ से उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के 6 बस स्टेशनों का लोकार्पण एवं 7 बस स्टेशनों का शिलान्यास करते हुए।  (फोटो: मुख्यमंत्री सूचना परिसर)

लखनऊ (सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सरकारी आवास पर उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा तैयार किये गये 06 बस स्टेशनों का लोकार्पण एवं 07 बस स्टेशनों का शिलान्यास किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने परिवहन निगम की बसों को झण्डी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री जी ने नवनिर्मित बस स्टेशनों नैमिषारण्य (सीतापुर), चित्रकूट (चित्रकूट), बस शेल्टर रूधौली (बस्ती), बस शेल्टर मनकापुर (गोण्डा), बस स्टेशन डिबाई (बुलन्दशहर), अवध बस स्टेशन अयोध्या मार्ग (लखनऊ) का लोकार्पण तथा गुरसहायगंज (कन्नौज), बस स्टेशन जालौन (जालौन), बस स्टेशन कांठ (मुरादाबाद), बस स्टेशन दिबियापुर (औरैया), बस स्टेशन अलीगंज (एटा), बस स्टेशन बदलापुर (जौनपुर), बस स्टेशन चायल (कौशाम्बी) का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री जी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार आमजन को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त ट्रांसपोर्ट सुविधाएं प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौरान उत्तर प्रदेश परिवहन निगम ने अपने आपको सिद्ध किया है। क्योंकि सामान्य दिनों में हर व्यक्ति एवं संस्था अपना काम कर सकती है मगर आपदा एवं चुनौतियों से जूझते हुए परिणाम दे पाना यह किसी भी संस्था के लिए एक बहुत बड़ी कसौटी है और इस कसौटी पर परिवहन निगम खरा उतरा है। उन्होंने परिवहन निगम को संकट का साथी बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 को लेकर जब लॉकडाउन की कार्यवाही प्रारम्भ हुई थी, तब परिवहन निगम ने आपदा में कामगारों और श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचाने का जो कार्य किया है, वह अत्यन्त सराहनीय है। मात्र 48 घण्टे में साढ़े तीन से चार लाख लोगों को सुरक्षित गंतव्य तक पहुंचाने का कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि राजस्थान के कोटा में प्रदेश के विद्यार्थी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं, जिनकी परिवहन निगम द्वारा सुरक्षित घर वापसी करायी गयी। मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेष श्रमिक ट्रेनों के संचालन के लिए उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री जी तथा रेल मंत्री जी का आभारी है। कामगारों एवं श्रमिकों को स्टेशनों से सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए परिवहन निगम ने बसों की सेवाएं प्रदान की, जिससे प्रदेश के लगभग 35 लाख लोगों को सुरक्षित परिवहन की सेवाएं प्राप्त हुईं। मुख्यमंत्री  ने कहा कि वर्तमान सरकार ने लोगों की अपेक्षाओं के अनुरूप बस अड्डों को भी हवाई अड्डों की तर्ज पर विकसित करने का कार्य किया। उन्होंने कहा कि हम कोविड-19 से भी लड़ेंगे और विकास का पहिया भी नहीं रुकने देंगे। परिवहन निगम कोविड-19 के दृष्टिगत अपने कार्यों को आगे बढ़ा रहा है। संक्रमण को रोकने के मद्देनजर मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर को अनिवार्य रूप से सभी के लिए जरूरी किया गया है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अशोक कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री जी की प्रेरणा से उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग तथा उ प्र राज्य सड़क परिवहन निगम निरन्तर नित नये आयाम स्थापित कर रहा है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों और कामगारों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में परिवहन निगम ने उल्लेखनीय कार्य किया है। उ प्र राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक राजशेखर ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सांसद कौशल किशोर, विधायक अविनाश त्रिवेदी, मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव परिवहन आर के सिंह, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।