वित्तीय वर्ष के अंत तक टाइमलाइन निर्धारित कार्यों को युद्ध स्तर पर पूरे कराएं: उप मुख्यमंत्री
March 15, 2020 • Mr Arun Mishra

लखनऊ, 14 मार्च 2020। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व निर्माण निगम के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा है कि वित्तीय वर्ष के अंत तक जिन कार्यों को पूरा करने की टाइमलाइन निर्धारित की गई है, युद्ध स्तर पर वह कार्य कर पूरे कराए जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिए जाएं कि वह लगातार कार्यों का निरीक्षण करते रहें ,ताकि कार्यों की गुणवत्ता पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न पड़े और सभी कार्य गुणवत्ता पूर्ण ढंग से मानकों के अनुरूप संपन्न हो सकें। श्री मौर्य शुक्रवार को यहां तथागत सभागार, लोक निर्माण विभाग मुख्यालय में आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में लोक निर्माण विभाग व सेतु निगम के कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो बजट आवंटित किया गया है। उसके सापेक्ष सभी कार्य समय से पूरे करा लिए जाएं तथा आरओबी, पुलों और फ्लाईओवर के कामों में भी तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में निर्माणाधीन आरओबी को तत्काल पूरा करने के कार्यवाही की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि अन्य प्रदेशों की सीमावर्ती जिलों को जोड़ने वाली सड़कों के बारे में भी तीव्रता से कार्रवाई की जाए तथा वहां के सीमावर्ती विधायकों व सांसदों से भी अधिकारी वार्ता करते रहें।उन्होंने कहा जो कार्य ज्यादा उपयोगी हैं उनको पहले पूरा कराया जाए। इसी तरह जिन पुलों का निर्माण ज्यादा जरूरी है, उन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि वर्ष 2020 - 21 में जो कार्य कराए जाने हैं, उसकी कार्य योजना समय से पूरी कर ली जाए और ठोस व प्रभावी रणनीति बनाकर कार्यों को पूरा करने के मुकम्मल इंतजाम किए जाएं। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को आवंटित बजट तथा उसके सापेक्ष व्यय बजट के बारे में भी जानकारी हासिल की। निर्माणाधीन परियोजनाओं की वर्तमान स्थिति के बारे में भी उच्चाधिकारियों से जानकारी हासिल की। बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लोक निर्माण विभाग रंजन कुमार, सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा, विशेष सचिव लोक निर्माण विभाग गिरिजेश कुमार त्यागी, विभागाध्यक्ष, लोक निर्माण विभाग राजीव रतन सिंह, उत्तर प्रदेश सेतु निगम के प्रबंध निदेशक पी के कटियार, उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के प्रबंध निदेशक यू के गहलौत, प्रमुख अभियंता एस के श्रीवास्तव, प्रमुख अभियंता राजपाल सिंह, मुख्य अभियंता संजय गोयल, जे के बांगा, संजय श्रीवास्तव, विशेष कार्याधिकारी प्रदीप कुमार सहित अन्य अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित थे।